आत्मनिर्भर भारत, जागो भारत बनो भोकल

हमारे विषय में

श्री राम एजुकेशनल एंड सोशल डेवलोपमेन्ट चैरिटेबल संगठन (Shree Ram Educational and Social Development Charitable Trust) की स्थापना का उद्देश्य बच्चों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा देना और साथ-ही-साथ सामाजिक-सांस्कृतिक संगठन जैसे मठ, मंदिर आदि की स्थापना करना हैI समाज में ज्यादा-से-ज्यादा सत्संग कि स्थापना हो सके और लोगों में अच्छे आचरण और संस्कार स्थापित किए जा सकें इसके लिए आनेवाले समय में टेलीविजन कार्यक्रम और फिल्म निर्माण के लिए भी संगठन प्रयासरत है I माननीय प्रधानमंत्री जी की आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम के तहत संगठन लोगों को कृषि के साथ-साथ पशुपालन और अन्य कार्यक्रमों से जोड़कर किसानों और मजदूरों को आत्मनिर्भर बनाने का भी काम कर रही है I संगठन विभिन्न कार्यक्रमों के तहत रोजगार मुहैया कराने के साथ-साथ सामाजिक और सांस्कृतिक सुधार के लिए कटिबद्ध है…जिसमें आपका सहयोग वांछनीय है I

सीता राम मंदिर निर्माण

ये माता काली का दक्षिणेश्वर मंदिर है जो कोलकाता में स्थित है. जो माता की महिमा बढ़ाने के साथ-साथ अपनी ऐतिहासिक भव्यता का अनुपम उदहारण है. इस मंदिर की निर्माण कला से आकर्षित होकर इस भव्यता को बिहार की धरती पर उतारने का एक प्रयास करने जा रहा हूँ. बिहार के शेखपुरा जिला में इसका शिलान्याश होगा जो हु-ब-हु तो नहीं पर इस मंदिर की ही एक छाप होगी. ये मंदिर राजा राम का होगा, जिसमें सिंहासन पर राजा राम के साथ-साथ माता सीता भी विराजमान होंगी. मंदिर का शुभारम्भ भगवान शिव के रुद्राभिषेक से शुरू होगा. इस मंदिर के निर्माण का उद्देश्य मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के आदर्शों को जन-जन तक पहुँचाना है. जिसमें हर हिन्दू का योगदान वांछनीय है....

फिल्म निर्माण इन बिहार

वॉलीवूड का चमकता सितारा सुशांत सिंह राजपूत (1986 -2020), जिसकी चमक अचानक ही 14 जून को अँधेरे की गुमनामी में पंचतत्व में विलीन हो गया I हलाकि इस गुमनाम मौत की कहानी की हकीकत तो उस सितारे के साथ ही दफ़न हो गयी I जिसे अब सुशांत के जुवान से कभी जाना नहीं जा सकेगा I लेकिन सुशांत जाते-जाते अपने पीछे कई सवाल छोड़ गए I किसी ने कहा है कि धुआं वहीँ उठता है जहाँ किसी न किसी रूप में आग कि मौजूदगी होती है I जी हाँ ये कहानी आज बिहार के लिए कोई नयी बात नहीं है I दिल्ली, सूरत, हो या मुंबई ये कोई नयी बात नहीं है कि जहाँ आपके टैलेंट के साथ मजाक किया जाता है I वो भी सिर्फ इसलिए क्योंकि बिहार से जानेवाला व्यक्ति वहां के तिलिस्म में फंस कर रह जाता है I बात समझने की है कि आखिर कब तक हम दूसरों पर निर्भर रहेंगे I जरुरत है कि बिहार खुद अपनी इंडस्ट्री खड़ी करे I आखिर कब तक हम जान गवाते रहेंगे....

मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल की स्थापना

बरबीघा हमारी मातृभूमि है और मोकामा नगरी हमारा कार्यक्षेत्र . ऐसे में इन क्षेत्रों का विकास हमारी प्राथमिकता है. अपनी हर आवश्यकता के लिए सरकार पर निर्भर नहीं रहा जा सकता. ऐसे में संगठन समाज से सहयोग की कामना करता है. ऐतिहासिक कोरोना काल को देखते हुए संगठन मंदिर और स्कूल के साथ-साथ आनेवाले समय में बरबीघा और मोकामा के नजदिक मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल की स्थापना के लिए भी प्रयासरत्त है. जिससे की कम खर्च और कम से कम परेशानी के साथ ज्यादा-से-ज्यादा लोगों को समय से बेहतर स्वास्थ्य लाभ कराया जा सके.

ज्यादा से ज्यादा गुरुकुल की स्थापना

संगठन श्री राम पब्लिक स्कूल के बैनर तले बच्चों को शिक्षा देने के काम करती है I इस स्कूल की स्थापना का उद्देश्य बच्चों में गुणवत्ता युक्त शिक्षा देने के साथ साथ उसमें मूल संस्कारों को जगाना है जो हमारी भारतीय संस्कृति की पहचान रही है I यहाँ बच्चों को उद्देश्य मूलक तो बनाया ही जाता है साथ-ही-साथ शिक्षा से अलग हटकर खेल और कला मंच के जरिये बच्चों में बिभिन्न प्रतिभाओं को भी जगाने का प्रयास किया जाता है I संगठन का प्रयास aise कई गुरुकुल शुरू करना है जिससे कि हमारी मूल उद्देश्य कि प्राप्ति हो सके.....

Facebook

You can contact us on Facebook. Please click here.

Youtube

You can contact us on youtube. Please click here.

Instagram

You can contact us on instagram. Please click here.

Twitter

You can contact us on twitter. Please click here.